Welding Kya hai / Types of welding / वेल्डिंग के प्रकार

5/5 - (1 vote)

Welding Kya hai / Types of welding

Welding Kya hai / Types of welding

Welding Kya hai / Types of welding

Q. फ्यूजन या नान प्रेशर वेल्डिंग क्या है?

Ans. वह वेल्डिंग जिस में जुड़ने वाले किनारों को गर्म करके गलनांक तक लाया जाता है जब मुख्य धातुओं के सिर्फ निकलना शुरू करते हैं तो सिर्फ खाली स्थान में फिलर मेटल जो वेल्डिंग रोड से प्राप्त होता है पिघलाकर भर दी जाती है जब यह पिघली हुई धातु परस्पर मिलने के बाद ठंडी होती है तो जमकर एक पक्का जोड़ बना लेती है.

Q. प्लास्टिक या प्रेशर वेल्डिंग क्या है ?

Ans. इस वेल्डिंग में जुड़ने वाले सिरो को पिघलने की अवस्था तक लाया जाता है इसके बाद दबाव डालकर उसको जोड़ दिया जाता है इस विधि में फिलर मेटल की आवश्यकता नहीं होती।

Q. फोर्ज वेल्डिंग क्या है?

Ans. धातुओं के जिन भागों को जोड़ना हो उन्हें लौहार की भट्टी में लगभग पिघलने की अवस्था तक गर्म किया जाता है यह तापमान लगभग 1300℃ होता है गर्म करने के पश्चात दोनों सिरों को मिलाकर दबाव अथवा हथौड़े से पीटकर जोड़ दिया जाता है.

Q. फ्लेक्स का उपयोग क्यों किया जाता है ?

Ans. बढ़ते हुए तापमान पर धातुएँ शीघ्र आक्सीकृत हो जाती है तथा उन पर पपड़ी बन जाती है जो धातुओं को जोड़ने में रुकावट पैदा करती है इसके प्रभाव को समाप्त करने के लिए फ्लक्स का प्रयोग किया जाता है फ्लक्स  सिरो को साफ करता है तथा ऑक्सीकरण को रोकने में सहायता प्रदान करता है.

Q. मेटैलिक आर्क वेल्डिंग क्या है ?

Ans. इस वेल्डिंग में आर्क, मुख्य धातु तथा धातु के बने हुए इलेक्ट्रोड के बीच पैदा की जाती है आर्क की गर्मी से इलेक्ट्रोड पिघलता है तथा पिघली हुए मुख्य धातु के साथ मिल जाता है इस विधि में फिलर मेटल रोड की आवश्यकता नहीं होती है.

Q. इनर्ट गैस आर्क वेल्डिंग से आप क्या समझते हैं ?

Ans. इस विधि को हम गैस शील्डेड वेल्डिंग भी कहते हैं इसमें आर्क आर्गन या किसी अन्य इनर्ट गैस के माध्यम से उत्पन्न की जाती है इस प्रकार पिघली हुई धातुओं को आक्सीकृत होने से बचाया जाता है.

Q. मिग वेल्डिंग क्या है ?

Ans.  इनर्ट गैस और के वेल्डिंग में यदि आर्क मैटेलिक रोड तथा मुख्य धातु से उत्पन्न की जाए तो इसे मैटेलिक इनर्ट गैस वेल्डिंग या मिग वेल्डिंग कहा जाता है.

Q. टिग वेल्डिंग किसे कहते हैं ?

Ans. यदि  इनर्ट गैस वेल्डिंग में मैटेलिक रोड के स्थान पर टंगस्टन इलेक्ट्रोड का प्रयोग किया जाए तो इस विधि को टंगस्टन इनर्ट गैस वेल्डिंग या टिग वेल्डिंग कहा जाता है.
Read More ये भी पढ़े : IMP Welder Questions

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x
Scroll to Top